अंतर्राष्ट्रीय

अमेरिका और रूस ने मिलाया हाथ, कहा- तालिबान का ‘इस्लामी अमीरात अफगानिस्तान’ मंजूर नहीं

अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को ‘इस्लामी अमीरात अफगानिस्तान’ को फिर से बहाल करने के किसी प्रयास का समर्थन ना करने का राज़ी करवाने के लिए अमेरिका और रूस ने हाथ मिलाया है। खुद को सत्ता से हटाए जाने से पहले तालिबान अपनी सरकार को ‘इस्लामी अमीरात अफगानिस्तान’ कहकर संबोधित करता था। सूत्रों की माने तो अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा जारी संयुक्त बयान में कहा गया है कि अमेरिका और रूस अंतर अफगान वार्ता और राजनैतिक प्रक्रिया से तय होने वाली अफगान इस्लामी हुकूमत की दिशा में तालिबान की प्रतिबद्धता की सराहना करते हैं। लेकिन वे यह दोहराना चाहते हैं कि ‘इस्लामी अमीरात अफगानिस्तान’ को अंतर्राष्ट्रीय समुदाय और संयुक्त राष्ट्र की मान्यता नहीं प्राप्त है। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय इसे स्वीकार करने या बहाल करने के किसी भी प्रयास का समर्थन नहीं करेगा।

Related posts

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की औपचारिक प्रक्रिया शुरू…

gyan singh

नशे की लत को छुड़वाने में माहिर डॉ क्लेबर को गूगल ने डूडल बनाकर किया याद….

gyan singh

इस पाकिस्तानी एक्टर पर हुआ 2 अरब का मुकदमा… लगे ये गंभीर आरोप

gyan singh

Leave a Comment