उत्तर प्रदेश ब्रेकिंग न्यूज़ राजनीति वायरल खबर

मुस्लिम पक्ष ने कहा- फैसले का सम्‍मान करते हैं, लेकिन संतुष्‍ट नहीं है….

नई दिल्‍ली. सीजेआई रंजन गोगोई की अध्‍यक्षता वाली पांच जजों की पीठ ने फैसले में कहा कि विवादित जमीन रामलला विराजमान को दी जाए. साथ ही उन्‍होंने सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड को अयोध्‍या में कहीं भी पांच एकड़ जमीन देने का फैसला दिया.

इस पर सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड के वकील जफरयाब जिलानी ने असंतुष्टि जताई. उन्‍होंने कहा, ‘हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्‍मान करते हैं. लेकिन हम इससे संतुष्‍ट नहीं है. इसे लेकर हम आगे की कार्रवाई के संबंध में विचार करेंगे.’

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) ने शनिवार को कहा कि वह विवादित जमीन को मंदिर के लिए देने से जुड़े फैसले से असंतुष्ट है और इस मामले में पुनर्विचार याचिका दायर करने पर विचार किया जाएगा. बोर्ड के सचिव और वकील जफरयाब जिलानी ने संवाददाताओं से कहा, ‘ फैसले के कुछ बिंदुओं खासकर जमीन देने की बात से हम अंसतुष्ट हैं. हम विचार करेंगे कि पुनर्विचार याचिका दायर करनी हैं या नहीं.’

Related posts

सोनिया-पवार की बैठक आज,साफ हो सकती है महाराष्ट्र में सरकार की तस्वीर

News Desk

छत्तीसगढ़ :16 नवंबर के बाद आचार संहिता हो सकती है लागू

sundeep gautam

एक बार फिर मूर्ति विवाद को लेकर गरमाई सियासत। स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा को हटाए जाने पर हुआ विवाद…

News Desk

Leave a Comment