मध्यप्रदेश

सरकार की सख्ती:उज्जैन में जहरीली शराब पीने से 9 लोगों की मौत होने पर एक्शन में मुख्यमंत्री

उज्जैन में जहरीली शराब पीने से 9 मजदूरों की मौत मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई। सीएम ने घटना की जांच एसआईटी से कराने के निर्देश दिए। सीएम ने कहा कि प्रारंभिक जानकारी मिली है उसके अनुसार घटना में शामिल तीन आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस की स्पेशल टीम बनाई गई है। जिस थाना क्षेत्र में घटना हुई है, वहां के टीआई समेत पुलिस कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया है। दोषियों को किसी कीमत पर छोड़ा नहीं जाएगा।
मुख्यमंत्री चौहान ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि अन्य कई स्थानों पर ऐसी वस्तुएं बेची जा रही हैं, इसका पता लगाएं और ऐसे लोगों का नेटवर्क तोड़ें। नशीले पदार्थ बेचने वालों को कड़ी सजा मिले। सीएम से गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव को मामले की जांच रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए। उज्जैन में घटना की उच्चस्तरीय जांच होगी। अपर मुख्य सचिव गृह जांच करेंगे। एसआईटी बनाई गई है। पुलिस की स्पेशल टीम जांच करेगी।

घटना की उच्च स्तरीय जांच होगी

शिवराज ने कहा कि अपराधियों को उनके अंजाम तक पहुंचाया जाएगा। खाराकुआं थाना के टीआई समेत चार पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। मध्य प्रदेश में अपराधियों के लिए कोई स्थान नहीं है, अपराधियों को ऐसी सजा देंगे कि कांप जाएंगे।

सीएम ने कहा…

उज्जैन में जहरीली शराब अथवा नशीले पदार्थ के सेवन से लोगों की मृत्यु दुर्भाग्यपूर्ण है। ऐसे पदार्थ बेचने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए। ऐसे व्यक्तियों का नेटवर्क तोड़ा जाए, घटना की जांच हो।
अन्य कई स्थानों पर यदि ऐसी वस्तुएं बेची जा रही हैं, पता लगाएं और दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करें। ऐसे नशीले पदार्थ बेचने वालों को कड़ी सजा मिले। ऐसी वस्तुओं का विक्रय करने वालों को किसी स्थिति में नहीं छोड़ा जाए।
क्या है मामला

उज्जैन में तीन थाना इलाकों में बुधवार सुबह से गुरुवार सुबह तक 24 घंटे के अंदर 9 मजदूरों की मौत हो गई। बुधवार काे 7 मजदूरोंं की माैत के बाद गुरुवार सुबह नरसिंह घाट क्षेत्र और ढाबा राेड क्षेत्र से भी दाे मजदूरों के शव मिले। मजदूर शराब के आदी थे। कहारवाड़ी क्षेत्र से सस्ती झिंझर (पोटली) शराब खरीदकर पिया करते थे। आशंका है कि ज्यादा शराब पीने से इनकी मौत हो गई। हालांकि, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही इसकी पुष्टि हो सकेगी।
………………
दिग्विजय का तंज:शिवराज ने जिन्हें भ्रष्ट कहा, इस उपचुनाव में वही उनके उम्मीदवार

दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस से भाजपा में गए पूर्व विधायकों पर तंज कसा है। उन्होंने कहा- उपचुनाव में ऐसे भी उम्मीदवार बन गए जो कांग्रेस से भाजपा में शामिल हो गए। कभी भाजपा ने ही इनके खिलाफ बैनर-पोस्टर लगाए थे। इन्हें बेईमान और भ्रष्ट तक कहा था। अब इन उम्मीदवारों और खुद शिवराज को यह डर है कि कहीं भाजपा कार्यकर्ता इन दलबदलुओं को लेकर कोई राय न बना लें।

दिग्विजय ने कहा कि यही वजह है कि भाजपा ने चुनाव का जिम्मा सरकारी अधिकारी-कर्मचारी और पुलिस को सौंप दिया है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के इतिहास में पहली बार ऐसे उपचुनाव हो रहे हैं, जिससे मौजूदा सरकार रहेगी या नहीं रहेगी? यह तय होगा। खुद शिवराज सिंह चौहान कह चुके हैं कि वे अभी टेंपरेरी मुख्यमंत्री हैं।

चुनाव आयोग में शिकायत की

सुमावली क्षेत्र में कांग्रेस के कार्यकर्ता के घर में घुसकर तोड़फोड़ की गई थी। इसका ऑडियो क्लिप भी सामने आया है। इसमें उम्मीदवार गालियां दे रहा है। इसी तरह से कुछ और लोग भाजपा के पक्ष में वोट डालने को कह रहे है। इसी तरह की अन्य शिकायतें दिग्विजय ने चुनाव आयोग से की हैं। दिग्विजय ने कहा- हमें उम्मीद है कि चुनाव आयोग इस पर कार्रवाई करेगा।

‘सांवेर में पैसे बांटे जा रहे’
दिग्विजय ने आरोप लगाए कि सांवेर में आकाश विजयवर्गीय पैसे बांट रहे हैं। करेरा में जसवंत जाटव कह रहे हैं वोट नहीं दिया तो गर्दन मरोड़ दूंगा। इस तरह की शिकायतें हमारे पास आई है। हमने चुनाव आयोग में शिकायत की है। हमें यह विश्वास है कि मध्यप्रदेश का प्रशासकीय तंत्र मुख्य सचिव से लेकर चपरासी तक तथा डीजीपी से लेकर सिपाही तक अपने आपको नहीं बेचेगा। उपचुनाव में अपनी भूमिका को लेकर कहा कि उपचुनाव में दिग्विजय सिंह की भूमिका है कि भाजपा को हराओ ओर कांग्रेस को जिताओ

Related posts

मंत्री जयवर्धन सिंह का बयान। मीडिया से बातचीत के दौरान कही ये बात…

sundeep gautam

महाकाल की तीसरी सवारी में शामिल हुए मंत्री शर्मा और वर्मा

News Desk

लालजी टंडन ने मध्यप्रदेश के राज्यपाल के रूप में शपथ ग्रहण की

gyan singh

Leave a Comment