हेल्थ

अनेक रोगों के लिए फायदेमंद होती है बबूल गोंद ..!

आपको यह जानकर हैरानी हो सकती है कि बबूल पेड़ के जितने फायदे होते हैं, उससे कहीं अधिक बबूल गोंद के फायदे होते हैं। क्‍योंकि इसमें बबूल के सारे गुण होते हैं जो कि बबूल पेड़ के अलग-अलग हिस्‍सों में अलग-अलग मात्रा में होते हैं। बबूल गोंद का उपयोग बहुत सी आयुर्वेदिक दवाओं  को बनाने में किया जाता है। बबूल गोंद का सेवन करके यौन स्‍वास्‍थ्‍य, मधुमेह, कैंसर, वजन कम करना, तनाव, किडनी स्‍वास्‍थ्‍य जैसी कई समस्‍याओं को दूर किया जा सकता है।

बबूल गोंद के पोषक तत्‍व – अपने औषधीय गुणों के कारण बबूल गोंद को विभिन्‍न प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को दूर करने के लिए उपयोग किया जाता है। इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्‍वों में गैलेक्‍टोज , ग्लुको रोनिक एसिड , आरबीनोगलैक्‍टन-प्रोटीन कॉम्‍प्‍लेक्‍स  ग्लाइकोप्रोटीन आदि शामिल होते हैं। इन पोषक तत्‍वों के अलावा इसमे बहुत से एंटीऑक्‍सीडेंट गुण और खनिज पदार्थ भी शामिल हैं।
 
कैंसर को रोके – यह शरीर के कोलेस्‍ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद करती है और मुक्‍त कणों से छुटकारा दिलाती है जो कि कैंसर का कारण बनते हैं। इसमें उपस्थित एंटीऑक्‍सीडेंट  आपके द्वारा खाये जाने वाले खाद्य पदार्थों द्वारा आने वाले हानिकारक जीवाणुओं को नष्‍ट करके कैंसर की संभावना को कम करते हैं। बबूल गोंद का उपयोग कुछ दवा उद्योग और खाद्य पदार्थों में भी उपयोग किया जाता है। इसमे उपस्थिति फाइबर आपके शरीर में उपस्थित खराब कोलेस्‍ट्रोल को दूर करने और अच्‍छे कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को बढ़ाने में मदद करते हैं जो कैंसर की रोकथाम को बढ़ावा देते हैं।

मधुमेह के लिए – जो लोग मधुमेह से पीड़ित हैं उनके लिए बबूल गोंद बहुत ही फायदेमंद होती है। मधुमेह रोगी को हर समय भूख लगती है, उनकी भूख संतुष्‍ट नहीं हो पाती है। उनकी इस समस्‍या का समाधान बबूल गोंद से किया जा सक‍ता है। बबूल गोंद में उपथित फाइबर भूख को संतुष्‍ट करने में मदद करते हैं, और आपके खाने की आदत को नियंत्रित करते हैं। जिसके कारण आपके शरीर में रक्‍त शर्करा  को नियंत्रित किया जा सकता है। रक्‍त शर्करा की अधिक मात्रा मधुमेह का प्रमुख कारण होता है। आप बबूल गोंद को अपने खाद्य पदार्थों में मिलाकर सेवन कर सकते हैं।

पुरुषों के यौन स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – पुरुषों के यौन स्‍वास्‍थ्‍य  के लिए बबूल की गोंद बहुत ही फायदेमंद होती है। पौरूष स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ाने के लिए बबूल गोंद को सामान्‍य रूप से प्रतिदिन 5 से 10 ग्राम की मात्रा का सेवन करना चाहिए। यदि इसके सेवन से किसी प्रकार की हानि होती है तो इस प्रभाव को कम करने के लिए पलाश की गोंद का इस्‍तेमाल किया जा सकता है।
वीर्य रोग और शीघ्रपतन को दूर करने के लिए बबूल की 100 ग्राम गोंद को भून कर पीस लें और इसमें 50 पिसी हुई अश्‍वगंधा मिलाएं। इस मिश्रण को प्रतिदिन नियमित रूप से सुबह-शाम गर्म दूध के साथ सेवन करें। यह आपके वीर्य को गाढ़ा बनाने के साथ-साथ सभी प्रकार के वीर्य रोग को ठीक करने में मदद करता है।

महिला स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ाए – बबूल गोंद का उपयोग महिलाओं के स्‍वास्‍थ्‍य पर सकारात्‍मक प्रभाव डालता है। यदि महिलाओं द्वारा 6 सप्‍ताह तक नियमित रूप से 3 ग्राम बबूल गोंद का सेवन प्रतिदिन किया जाता है तो यह महिलाओं के बांझपन  की समस्‍या को दूर कर सकता है। बबूल गोंद का नियमित सेवन करने से यह महिलाओं के बढ़ते वजन को भी नियंत्रित कर सकता है। यह शरीर के वसा  को 2 प्रतिशत तक कम कर सकता है। जो यह साबित करता है कि यह महिलाओं के वजन को कम करने में सहायक है।

दस्‍त को ठीक करे – डायरिया एस ऑरियस जीवाणु के कारण होता है। दूषित पानी पीना या फिर दूषित और बैक्‍टीरिया युक्‍त भोजन करना दस्‍त होने का प्रमुख कारण है। यदि आप इस तरह की समस्‍या से ग्रसित हैं तो बबूल गोंद आपकी सहायता कर सकती है।

वजन कम करे – मोटापा बहुत सी बीमारियों का कारण होता है, इसलिए आप भी नहीं चाहेगें की आप अधिक मोटे हों। यदि आप मोटापा कम करना चाहते हैं या मोटा नहीं होना चाहते हैं तो बबूल गोंद का सेवन करें। यदि आप बबूल गोंद की थोड़ी मात्रा का सेवन प्रतिदिन करते हैं तो इसमे मौजूद फाइबर आपके वजन को कम करने में मदद करते हैं। बबूल गोंद का नियमित सेवन करने से आपको अतिरिक्‍त भूख का एहसास नहीं होगा जो कि आपके मोटापे का मुख्‍य कारण होता है। आप यदि मोटापे और इससे संबंधित अन्‍य समस्‍याओं से बचना चाहते हैं तो बबूल गोंद का नियमित सेवन कर सकते हैं।

रखे दांतों को स्‍वस्‍थ्‍। – दांतों की समस्‍या का प्रमुख कारण मुंह में होने वाले बैक्‍टीरीया होते हैं। जिनके कारण दांतों की गंदगी  का स्‍तर आपके मुंह में बढ़ सकता है। आपके दांत आपकी सुंदरता का अहम हिस्‍सा होते हैं, यदि आप इनका ख्‍याल नहीं रखते हैं तो आपको भविष्‍य में बहुत परेशानियां हो सकती हैं। आप अपने दांतों को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए बबूल गोंद का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। अध्‍ययनों ने यह साबित कर दिया है। वास्‍तव में बबूल गोंद में एंटीबैक्‍टीरियल गुण होते हैं जो आपके मुंह के हानिकारक बैक्‍टीरिया को नष्‍ट करने में मदद करते हैं। इन जीवाणुओं के कारण आपके दांतों और मसूड़ों से खून निकलने लगता है। यदि आप सामान्‍य रूप से बबूल गोंद का सेवन 7 दिनों तक करते हैं तो यह आपके मुंह की गंदगी  को हटा सकता है।

तनाव को दूर करे – ऑक्‍सीडेटिव तनाव उस स्थिति में होता है जब आपके शरीर में मुक्त कणों  की संख्‍या बढ़ जाती है। एक अध्‍ययन से पता चलता है कि बबूल गम का सेवन करने से यह हानिकारक जीवाणुओं से हमारे शरीर की रक्षा करता है, क्‍योंकि इनमें एंटीऑक्‍सीडेंट  अच्‍छी मात्रा में पाए जाते हैं। मुक्‍त कण आपके तनाव को बढ़ाने के साथ-साथ शरीर की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इनसे बचने के लिए स्‍वस्‍थ्‍य भोजन और बबूल गोंद का नियमित सेवन करें। यह आपके तनाव को कम करने में मदद करता है।

पेट के लिए – पेट के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बबूल गोंद बहुत ही फायदेमंद होती है क्‍योंकि इसमें फाइबर  की अच्‍छी मात्रा होती है। फाइबर की अच्‍छी मात्रा होने के कारण यह पेट में अतिरिक्‍त गैस के उत्‍पादन और पेट की सूजन को कम करता है। पेट की गैस और सूजन के कारण दर्द का अनुभव होता है जो कि बहुत ही कष्‍टदायक होता है। अध्‍ययन बताते हैं कि बबूल गोंद का सेवन करने से यह आंतों को स्‍वस्‍थ्‍य  रखता है। इसलिए बबूल गोंद का सेवन करने से यह पेट की समस्‍याओं को दूर करने में मदद करता है।

Related posts

पोषण का पावरहाउस है यह बीज…

Administrator TehelkaMP

रोगों से राहत दिलाने में सहायक है यह क्रिया

News Desk

ज्यादातर बीमारियों में फायदेमंद है पुदीना

News Desk

Leave a Comment