देश

निशाने पर हैं बड़ी हस्तियां, खुफिया विभाग को मिला इनपुट…

कानपुर, तहलका एमपी-सीजी। पाकिस्तान के शिविर में आतंकियों के सक्रिय होने के बाद खुफिया विभाग सक्रिय हो गया है। खुफिया विभाग के इनपुट के मुताबिक जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन ने कानपुर के युवकों को शामिल कर एक मॉड्यूल तैयार किया है। इस मॉड्यूल के निशाने पर देश की कई बड़ी नामचीन हस्तियां हैं। इधर पिछले तीन दिनों से कानपुर और फतेहगढ़ की सैन्य टुकड़ियों को ऑरेंज लेवल पर अलर्ट रखा गया है। कानपुर में 2017 में आईएसआईएस के खुरासान मॉड्यूल का खुलासा हुआ था। वहीं पिछले साल हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी कमरुज्जमा चकेरी से पकड़ा गया था। अब एक बार फिर खुफिया विभाग ने बड़ा इनपुट दिया है। इनपुट के मुताबिक पिछले कई वर्षों से जैश-ए-मोहम्मद कानपुर के कुछ युवाओं को अपने संगठन में शामिल कर ट्रेनिंग दे रहा था। आतंकियों का ये मॉड्यूल अब हमले की फिराक में है। सुरक्षा से लेकर जांच एजेंसियां सक्रिय होकर निगरानी करने लगी हैं। पुख्ता जानकारी मिलने पर बड़ी कार्रवाई संभव है। सेना भी अलर्ट शहर में थल सेना और एयरफोर्स का बड़ा बेस है, इसलिए सेना समेत खुफिया विभाग अत्यधिक सक्रिय है। हालांकि सेना अपनी रणनीति का खुलासा नहीं कर रही है। अलर्ट के तहत छावनी में मिलेट्री इंटेलीजेंस के अधिकारी भी गश्त कर रहे हैं। संदिग्धता होने पर किसी की भी चेकिंग कर उनसे पूछताछ कर सकते हैं। इसी के क्रम में फर्जी लेफ्टिनेंट पकड़ा गया। फिलहाल सभी जवानों की छुट्टियां रद कर दी गई हैं। अलर्ट कब तक जारी रहेगा, इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। ऑरेंज अलर्ट का मतलब ऑरेंज अलर्ट के तहत जवानों के जिस्टिक (साजो-सामान) को सैन्य वाहनों पर लोड कराया जाता है। जैसे ही आदेश मिलता है, सभी बताए गए स्थानों पर कूच करते हैं। आलाधिकारियों के जो निर्देश होते हैं, वैसी कार्रवाई की जाती है। अलर्ट के तहत सभी आर्डनेंस फैक्टरियों, एयरफोर्स स्टेशन की भी सुरक्षा बढ़ाई गई है।

Related posts

दिल्ली में चीनी मांझे ने ली सिविल इंजीनियर की जान.. स्कूटर पर जाते वक्त फंसा गर्दन में मांझा..

Manager TehelkaMP

शिवसेना में शामिल हुए एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा

gyan singh

पत्नी के सिर्फ इतने कहने पर ही पति ने बोल डाला तीन तलाक

News Desk

Leave a Comment