भोपाल मध्यप्रदेश

मोतियाबिंद ऑपरेशन के बाद आँखों की रोशनी जाने की जाँच के लिये उच्च-स्तरीय कमेटी गठित

प्रभावित मरीजों का होगा नि:शुल्क इलाज, चैन्नई से बुलाये नेत्र सर्जन
 
भोपाल, तहलका एमपी सीजी। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तुलसीराम सिलावट ने इंदौर के एक निजी अस्पताल में 10 मरीजों के आँखों के ऑपरेशन के बाद उनकी आँखों की रोशनी प्रभावित होने की घटना को अमानवीय बताया है। उन्होंने कहा कि प्रभावित मरीजों के इलाज के लिये राज्य सरकार ने देश के ख्याति प्राप्त शंकर नेत्रालय के डॉ. राजू रमन को कॉल किया है। डॉ. रमन रविवार, 18 अगस्त को सुबह इंदौर पहुँच रहे हैं। मंत्री श्री सिलावट ने बताया कि प्रभावित मरीजों को इंदौर के चोइथराम नेत्रालय में शिफ्ट कर दिया गया है। मंत्री श्री सिलावट ने बताया कि प्रभावित मरीजों की आँखों का पूरा इलाज राज्य सरकार द्वारा नि:शुल्क कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि घटना की जाँच के लिये उच्च-स्तरीय इन्क्वायरी कमेटी गठित की गई है। कमेटी ने जाँच का काम शुरू कर दिया है। कमेटी को यथाशीघ्र जाँच रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिये कहा गया है। श्री सिलावट ने बताया कि कमेटी की जाँच रिपोर्ट के आधार पर दोषी चिकित्सकों एवं अस्पताल के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

Related posts

भोपाल-इंदौर समेत 10 जिले रेड जोन में; सीएम ने कहा- कोरोना से निपटने के लिए नई गाइडलाइन जारी होगी

Narendra

कुत्ते पर ईनाम रखवाकर मरवाया था, दर्ज हाेगी अब एफआईआर

Manager TehelkaMP

झूठ और फरेब की दम पर बनीं कमलनाथ सरकार

gyan singh

Leave a Comment