खेल

अंबाती रायुडू ने वापस लिया संन्यास… डंके की चोट पर टीम में दोबारा खेलने की तारीख भी बताई…

एजेंसी। विश्व कप 2019 टीम में न चुने जाने के बाद भारतीय टीम के मध्यक्रम बल्लेबाज अंबाती रायुडू ने अचानक संन्यास लेकर पूरी दुनिया को चौंका दिया था। अब लगभग 58 दिन बाद अपने उस फैसले को भावुक बताते हुए रायुडू ने संन्यास वापस लेने का भी एलान कर दिया है।  आंध्रप्रदेश के इस खिलाड़ी ने अपनी आईपीएल टीम चेन्नई सुपरकिंग्स, दिग्गज भारतीय खिलाड़ी वीवीएस लक्ष्मण और नोएल डेविड का शुक्रिया अदा किया। बकौल अंबाती इन सभी ने मुश्किल वक्त में उनका समर्थन किया। इन सभी ने अहसास कराया कि मुझमें अभी काफी क्रिकेट बची है और मैं आगे खेल सकता हूं। रायडू ने कहा कि वे हैदराबाद के लिए आगे खेलने को तैयार हैं और टीम के लिए 10 सितंबर से खेलने को उपलब्ध भी रहेंगे।

इसके बाद हैदराबाद के चीफ सिलेक्टर नोएल डेविड ने कहा कि, ‘यह हमारे लिए अच्छी खबर है। रायुडू में अभी कम से कम 5 साल की क्रिकेट बाकी है। वे युवा खिलाड़ियों को काफी कुछ सिखा सकते हैं। उनके बिना हमें पिछले साल रणजी ट्रॉफी में काफी संघर्ष करना पड़ा था। उनकी क्लास और अनुभव से हमारी टीम को फायदा होगा।’ अंबाती रायुडू छह महीने पहले तक भारतीय टीम का अहम हिस्सा थे। कप्तान, कोच और मुख्य चयनकर्ता द्वारा उन्हें आईसीसी विश्व कप के लिए नंबर-4 का सबसे बेहतरीन बल्लेबाज बताया जा रहा था, लेकिन जब 15 अप्रैल को टीम की घोषणा हुई, तब उनकी जगह विजय शंकर को टीम में शामिल कर लिया गया। इसके बाद रायुडू का एक विवादित ट्वीट भी बेहद चर्चा में आया, जिसके बाद उन्हें रिजर्व खिलाड़ियों की सूची में शामिल किया गया था। हालांकि चोटिल होकर शिखर धवन और फिर विजय शंकर के बाहर होने के बाद भी बीसीसीआई ने उनकी जगह ऋषभ पंत को वर्ल्ड कप के लिए इंग्लैंड भेजा था। इसके बाद ही 3 जुलाई 2019 को भारतीय टीम के लिए 55 वन-डे इंटरनेशनल में 47.05 की औसत से 1694 रन बनाने वाले रायुडू ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया। रायुडू के बल्ले से तीन शतक और 10 अर्धशतक भी निकले हैं। 6 टी-20 मैच खेलने वाले रायुडू ने 10.50 की खराब औसत से 42 रन बनाए है।

Related posts

पत्नी की वजह से अमेरिका ने रोका इस खिलाड़ी का वीजा… किसने सुलझाया मामला…

Manager TehelkaMP

श्रीलंका ने पाकिस्तान में टेस्ट मैच खेलने से किया इंकार….

Manager TehelkaMP

5000 मी. रेस में ट्रैक पर गिरा धावक.. दूसरे ने सहारा देकर फिनिश लाइन पार कराई..

gyan singh

Leave a Comment