दिल्ली राजनीति

INX मीडिया केस: चिदंबरम ने अनुरोध करते हुए कहा- सबूत दस्तावेजी है, छेड़छाड़ नहीं कर सकता हूं।

नई दिल्ली. INX मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग केस में जेल में बंद पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने बुधवार को दिल्ली हाईकोर्ट से उन्हें जमानत दिये जाने का अनुरोध करते हुए कहा कि सबूत दस्तावेजी हैं तथा जांच एजेंसियों के पास हैं, वह इसमें छेड़छाड़ नहीं कर करते है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के वकील ने न्यायमूर्ति सुरेश कैत को बताया कि अभियोजन पक्ष की शिकायत (आरोप पत्र) को प्रवर्तन निदेशालय ने अदालत में दायर नहीं किया है और चिदंबरम कैसे गवाहों को प्रभावित कर सकते हैं, जब वह उन्हें नहीं जानते है. चिदंबरम आईएनएक्स मीडिया धनशोधन मामले में तिहाड़ जेल में बंद है।

पूर्व केन्द्रीय वित्त मंत्री चिदंबरम की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा कि शुरूआत से ही जांच एजेंसी का यह मामला कभी नहीं था कि कांग्रेस नेता ने गवाहों को प्रभावित करने की कोशिश की, लेकिन अक्टूबर में अचानक, जब उन्हें हिरासत में लिया गया तो यह आरोप लगाया गया कि उन्होंने प्रमुख गवाहों पर दबाव डालने और प्रभावित करने का प्रयास किया था।

Related posts

भारत से कालापानी विवाद पर नेपाली पीएम ओली का बयान, कहा ‘एक इंच भी ज़मीन नहीं मिलेगी’

News Desk

अदालत ने 5 सितंबर तक बढ़ाई चिदंबरम की सीबीआई हिरासत

gyan singh

पाकिस्तान ने महंगाई का 9 साल का रिकॉर्ड तोडा, आम जनता परेशान

News Desk

Leave a Comment