अंतर्राष्ट्रीय

टाइटैनिक जहाज बनाने वाली 158 साल पुरानी कंपनी डूबी… कभी इसमें 35 हजार वर्कर थे…

एजेंसी। टाइटैनिक जहाज बनाने वाली 158 साल पुरानी कंपनी हार्लेंड एंड वोल्फ शिपयॉर्ड बंद होने जा रही है। करीब सौ साल पहले इस कंपनी में 35 हजार लोग काम करते थे। लगातार घाटे के कारण कंपनी दिवालिया हो गई। सोमवार को बंद होने के समय इस कंपनी में महज 123 लोग बचे थे। कंपनी ने टाइटैनिक जहाज 1909 से 1911 के बीच बनाया था। इसे उत्तरी आयरलैंड के बेलफास्ट में 31 मार्च, 1911 को लॉन्च किया गया था।

कंपनी ने दूसरे विश्व युद्ध के दौरान लगभग 150 से ज्यादा युद्धपोत भी बनाए थे। 1945 के बाद से कंपनी जहाज निर्माण से दूर होते चली गई। बंद होने से पहले यह कंपनी पनबिजली और समुद्री इंजीनियरिंग परियोजनाओं पर काम कर रही थी। हार्लेंड एंड वोल्फ कंपनी अप्रैल 1912 को तब चर्चा में आई जब उसका बनाया विशाल जहाज टाइटैनिक अपनी पहली यात्रा में आइसबर्ग से टकराकर समुद्र में समा गया। समुद्री इतिहास की सबसे भीषण दुर्घटना में 1,517 लोग मारे गए थे।  जहाज साउथेम्प्टन बंदरगाह से न्यूयॉर्क के लिए रवाना हुआ था।

टाइटैनिक का मलबा 1 सितंबर 1985 को खोजा गया था। इसे अमेरिकी नौसेना के पूर्व कमांडर और महासागर विज्ञान के प्रोफेसर रॉबर्ट डुआने बालार्ड ने खाजा था। शुरू में जहाज की स्थिति को गुप्त रखने की योजना बनाई गई ताकि कोई भी इस जगह का पता न लगा सके, जिसे कब्रिस्तान माने जाने लगा था।

Related posts

आतंकी हाफिज सईद दोषी करार.. पाक के गुजरात में शिफ्ट हुआ मामला..

Manager TehelkaMP

कंज्यूमर गुड्स फैक्ट्री में आग लगने से 19 लोगों की मौत, 3 जख्मी….

gyan singh

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की खास अधिकारी से उत्तर कोरियाई गार्ड्स ने की हाथापाई

Manager TehelkaMP

Leave a Comment