इंदाैर

एक दिन में ही 1500 वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाकर बनाया रिकार्ड


इन्दौर में जल शक्ति अभियान बन रहा है जन आंदोलन

इन्दौर, तहलका एमपी-सीजी। इंदौर के नागरिकों ने स्वच्छता में लगातार तीन वर्षों तक अव्वल रहने के बाद जल शक्ति अभियान में भी नंबर वन बनने की और तेजी से कदम बढ़ाया है। इंदौर नगर निगम क्षेत्र में एक ही दिन में डेढ़ हजार वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाकर रिकार्ड बनाया गया। इंदौर शहर में मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व में राज्य सरकार में जल शक्ति अभियान के बेहतर एवं प्रभावी क्रियान्वयन की दिशा में अनेक निर्णय लेकर उसे जमीनी स्तर पर लागू करने का काम शुरू किया है। इंदौर नगर निगम ने जल शक्ति अभियान को प्राथमिकता के आधार पर लागू कर घर-घर वर्षा जल के पानी को जमीन में उतारने का कार्य हाथ में लिया है। शुरूआती दौर में ही इसका व्यापक प्रभाव देखा जा रहा है। लोगों में जागरूकता बढ़ रही है और वह अपने-अपने घरों और संस्थानों में छत का पानी जमीन में उतारने  के लिये वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगवा रहे हैं। शहर में गत 25 अगस्त को एक अभियान के रूप में एक दिन में 1500 वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने का रिकार्ड कार्य किया गया। नागरिकों को प्रेरित किया जा रहा है कि वे अपने-अपने घरों में वर्षा काल के दौरान वर्षा जल को जमीन में उतारने के लिये रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगवाये। इसके लिये नगर निगम द्वारा एक एप भी बनाया गया है। इस एप के जरिये नागरिक वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगवाने के लिये आवेदन कर सकते हैं। शहर में प्रत्येक जोनवार न्यूनतम 6 से 7 टीमें गठित की गई हैं। प्रत्येक टीम में 3-3 सदस्य हैं। 

50 हजार वाटर हार्वेस्टिंग लगाने का लक्ष्य

नगर निगम आयुक्त आशीष सिंह ने बताया कि इंदौर शहर में कुल 50,000 वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने का लक्ष्य रखा गया है। इसमें से पहले चरण में 10,000 वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने का लक्ष्य है। इसे पूरा करने के लिये तेजी से कार्य चल रहा है। अब तक 2 हजार 200 वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाये जा चुके हैं। वर्तमान में ‘पहले आओ पहले पाओ’ के आधार पर सीएसआर के तहत वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम वाला कैप्सूल नि:शुल्क दिया जा रहा है। भवन स्वामी को मजदूरी और लगने वाली सामग्री की राशि देना होती है। वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने के लिये विशेषज्ञ भी नगर निगम द्वारा उपलब्ध कराये जा रहे हैं। इसके साथ ही  पाँच जल संरचनाओं का जीर्णोद्धार कराया गया। इसके अलावा 85 हजार 450 पौधे लगाये गये। वाटर हार्वेस्टिंग के अन्य कार्य भी चल रहे हैं। 

जिस स्थान पर वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाया जा रहा है, वहाँ पर जियो टैगिंग बारकोड लगाने का निर्णय भी लिया गया है। इसके द्वारा संबंधित स्थान की लाइव लोकेशन देखी जा सकेगी। शहर में नागरिकों को प्रेरित करने के लिये जल मित्र बनाये जा रहे हैं। वह घर-घर जाकर नागरिकों को प्रेरित करेंगें, जल की महत्ता बतायेंगे। नागरिकों को जागरूक करने के लिये अन्य माध्यमों का उपयोग भी किया जा रहा है। नगर निगम द्वारा वर्षा जल को जमीन में उतारने  के लिये वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की अन्य संरचनाओं को निर्माण भी किया जा रहा है।

Related posts

अपार्टमेंट में लगी आग, दो बच्चों समेत सात झुलसे…

Administrator TehelkaMP

इंदौर आई हॉस्पिटल के डायरेक्टर और सुपरिंटेंडेंट के खिलाफ एफआईआर दर्ज….

News Desk

नकली दूध बनाते हुए युवक गिरफ्तार, कारख़ाने को किया सील

Administrator TehelkaMP

Leave a Comment