इंदाैर

रंगो में बंटा बिलों का पैमाना

इंदौर, तहलका एमपी-सीजी। रंगो में बंट गया है आपका बिजली बिल। अभी आपके घर का हर महीने जो बिल आता है, अब वह अलग रंगो में आएगा। महीने भर की बिजली खपत यदि 150 यूनिट तक सिमित रही, तो आपके घर का बिजली बिल पीले रंग में आएगा। क्यों कि घरेलु बिजली उपभोक्ताओं के बिलों को रंगों में बांटने के प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है। 1 सितंबर से बिजली के बिल दो रंगे के हो रहे हैं। इंदिरा गृह ज्योति योजना के लाभ के दायरे में आने वाले उपभोक्ताओं को पीले रंग का बिल दिया जाएगा। शेष सभी उपभोक्ताओं को पहले की तरह सफेद बिल मिलेगा।सितंबर से बिजली के जो भी बिल जारी होंगे, उसमें रंग का यह पैमाना लागू होगा। हालांकि बिजली बिल के प्रारूप में किसी तरह का बदलाव नहीं होगा। अनुमान जताया जा रहा है कि पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी को हर महीने करीब 20 लाख से ज्यादा बिजली के बिल पीले रंग में जारी करने होंगे। शासन ने पहले इंदिरा गृह ज्योति योजना में सिर्फ गरीब व श्रमिक श्रेणी के उपभोक्ताओं को शामिल किया था। इसमें पश्चिम क्षेत्र कंपनी में 20 लाख उपभोक्ता पंजीकृत हैं। बीते दिनों जारी आदेश के बाद 150 यूनिट तक खपत करने वाले हर उपभोक्ता को इस योजना का लाभ देने का ऐलान किया गया है। यानी हर महीने 20 लाख से ज्यादा बिल पीले रंग के जारी होंगे। जब खपत कम होगी तो बिल का रंग बदल जाएगा। खपत ज्यादा हुई तो बिल हमेशा की तरह सफेद रंग का होगा।उपभोक्ताओं के बिलों के रंग को देखकर ही अब समझा जा सकेगा कि उसके यहां कम राशि का बिल है या ज्यादा। पीले रंग का बिल 150 यूनिट की खपत तक दिया जाएगा। शासन की घोषणा के अनुसार इस सीमा में बिजली खपत होने पर पहली सौ यूनिट के लिए 1 रुपए प्रति यूनिट पैसा लिया जाएगा। बाद की 50 यूनिट तक सामान्य दर पर शुल्क लिया जाएगा। इस आधार पर हिसाब लगाया जाए तो पीले रंग के बिल का सीधा मतलब होगा उस उपभोक्ता को 500 रुपए से कम ही बिल जमा करना है।

बिजली कंपनी के मुताबिक कई उपभोक्ताओं को भ्रम है कि पूरे 150 यूनिट तक हर यूनिट के लिए 1 रुपए चार्ज किया जाना है। शासन की योजना का प्रारूप ऐसा है कि 1 रुपए यूनिट पहली 100 यूनिट तक लगेगा उसके बाद 50 यूनिट का शुल्क सामान्य यानी करीब साढ़े छह रुपए प्रति यूनिट लिया जाएगा। लेकिन अगर खपत 150 यूनिट के पार पहुंची तो सामान्य शुल्क यानी 7 रुपए से ज्यादा पैसा चुकाना होगा। ऐसे में बिल का रंग भी पहले की तरह सफेद ही रहेगा।

Related posts

साबूदाना की आड़ में तस्करी…. 10 करोड़ रु. की लाल चंदन की लकड़ी पकड़ी…

gyan singh

इंदौर मे इंडिया कंपनी के मालिक समेत परिवार के 6 लोगों की मौत

News Desk

हनीट्रैप केस / पांचाें आरोपियों को 14 अक्टूबर तक जेल भेजा…

gyan singh

Leave a Comment