मध्यप्रदेश

इस बार त्यौहार भी नहीं भर पा रहा ट्रेनें…

मध्य प्रदेश से मुंबई जाने वाली ट्रेनों पर रक्षाबंधन का भी दबाव नहीं

रतलाम,तहलका एमपी-सीजी। इस बार त्यौहार पर बारिश के चलते ट्रेनें भी आधी खाली जा रही है। खासकर मुंबई जाने वाली ट्रेनें ज्यादातर खाली हैं। मुंबई की ओर जाने वाली ट्रेनों में एसी से लेकर स्लीपर श्रेणी के कोच में 100 से 150 बर्थ खाली आ रही है। रक्षाबंधन के दौरान ट्रेनों में सीट की मारामारी रहती है, लेकिन त्यौहार में दो दिन शेष होने पर भी ट्रेनें खाली हैं। ट्रेनों को चलाने में आ रही तकनीकी खामियों के चलते विभिन्न स्टेशनों से टिकट निरस्त हुए हैं। इससे अलग-अलग श्रेणी के कोच खाली चल रहे हैं। महाराष्ट्र और गुजरात क्षेत्र में भारी बारिश का दौर अब भी जारी है। इससे ट्रेनों को निरस्त किया। कई ट्रेनें शॉर्ट टर्मिनेट की तो बदले मार्ग से भी इन्हें चलाया गया। जो ट्रेनें चलाई जा रही हैं। वे भी देरी से चल रही हैं।

बारिश के चलते ट्रेनों में पिछले एक सप्ताह से स्थिति ज्यादा खराब है। मुंबई की ओर जाने वाली अवंतिका एक्सप्रेस, फ्रंटियर मेल एक्सप्रेस, मुंबई की जम्मूतवी एक्सप्रेस, गणगौर एक्सप्रेस, दुरंतो एक्सप्रेस जैसी प्रमुख ट्रेनों में आसानी से बर्थ मिल रही है। रेलवे द्वारा खाली बर्थ के आंकड़ें लेकर रिपोर्ट पश्चिम रेलवे मुख्यालय भेजी जा रही है। हालांकि मुंबई से दिल्ली सहित अन्य स्टेशनों पर जाने वाली डाउन की ट्रेनों को लेकर रेलवे को राहत है। इन ट्रेनों में पर्याप्त यात्री संख्या के चलते वेटिंग की स्थिति आ रही है। बारिश के चलते बड़ी संख्या में टिकट निरस्त होने की वजह से स्पेशल ट्रेनें भी नहीं चलाई गई हैं। हालांकि कुछ दिनों पहले इसकी घोषणा जरुर की गई थी। लेकिन परिचालन प्रभावित होने पर रेलवे ने स्पेशल ट्रेनें नहीं चलाने का फैसला किया है।

लाखों का नुकसान होगा रेलवे को  

ट्रेनें बाधित होने से रेलवे की आय भी प्रभावित हुई है। 4 अगस्त से वड़ोदरा स्टेशन पर तेज बारिश का सिलसिला शुरू हुआ था। ट्रेनें निरस्त होने पर रतलाम सहित अन्य पर यात्रियों को रिफंड किया गया। उस दिन विभिन्ना स्टेशनों पर कुल 746 यात्रियों ने अपने टिकट निरस्त कराए थे। उन्हें 3 लाख 24 हजार 815 रुपए रिफंड दिया था। अब तक करीब 20 लाख रुपए से अधिक का रिफंड किया गया है।

सोमवार को भी प्रमुख ट्रेनें खाली

मुंबई जाने वाली ट्रेनों में खाली बर्थ की स्थिति सोमवार को भी रही है। ट्रेन संख्या 12904 स्वर्ण मंदिर एक्सप्रेस में फर्स्ट एसी में 7, सेकंड एसी में 45, थर्ड एसी में 58 तथा स्लीपर में 46 सीट खाली रही। ट्रेन संख्या 19040 अवध एक्सप्रेस में सेकंड एसी में 28, थर्ड एसी में 81 बर्थ खाली रही। ट्रेन संख्या 12962 अवंतिका एक्सप्रेस में थर्ड एसी श्रेणी में 8 बर्थ खाली रही। 12956 जयपुर मुंबई एक्सप्रेस में फर्स्ट एसी में 5, सेकंड एसी में 6, थर्ड एसी में 92 व स्लीपर में 73 बर्थ खाली रही। अधिकारियों के मुताबिक पिछले एक सप्ताह से यही स्थिति बनी हुई है। रेल मंडल रतलाम के जनसम्पर्क अधिकारी जेके जयंत का कहना है कि बारिश के चलते मुंबई जाने वाली ट्रेनों में यात्रियों की संख्या में आंशिक कमी आई है। बारिश का दौर थमने के बाद स्थिति सामान्य हो जाएगी। अब तक निरस्त की गई ट्रेनों का यात्रियों को नियमों के मुताबिक रिफंड किया गया है। 

Related posts

महाराष्ट्र के बाद अब मध्यप्रदेश की राजनीती में हंगामा,सिंधिया ने ट्विटर से हटाया पार्टी का नाम

News Desk

स्कूल में बच्चों के हाथों में दी जा रही मध्यान भोजन की रोटियां, पैर पर रखकर खाते हैं बच्चे

Administrator TehelkaMP

मध्य प्रदेश में ठंड का आगाज, साथ ही मौसम ने बदले अपने मिजाज देखिए ये रिपोर्ट…

News Desk

Leave a Comment