बॉलीवुड

क्यों कहते हैं पहली महिला सुपरस्टार श्री देवी को?

तहलका एमपी-सीजी। बॉलीवुड की पहली महिला सुपरस्टार कही जाने वाली श्री देवी भले ही आज हमारे बीच नहीं हों, पर आज भी वें लोगों के दिलों में ज़िंदा है। 13 अगस्त यानी आज श्री देवी का जन्मदिन है। श्री का जन्म 1963 को शिवाकाशी, तमिलनाडु में हुआ था। श्री देवी का वास्तविक नाम श्रीअम्मा यंगेर अय्यपन था। उन्होंने 1967 में थिरुमुघम की फिल्म ‘थुनाईवन’ से एक्टिंग कॅरियर की शुरुआत की। श्रीदेवी ने 4 वर्ष की उम्र से ही एक्टिंग शुरू कर दी थी। 1979 में हिन्दी फिल्मों में मुख्य अभिनेत्री के रूप में वे फिल्म ‘सोलवां सावन’ में आईं, लेकिन उन्हें पहचान 1983 में आई फिल्म ‘हिम्मतवाला’ से मिली। हिन्दी, तमिल, तेलुगु, मलयालम और कन्नड़ जैसी अलग अलग भाषाओँ में काम करने वाली श्री देवी ने 13 वर्ष की छोटी उम्र में तमिल फिल्म ‘मोन्दरु मूडीचु’ में रजनीकांत की सौतेली मां का रोल किया था। बॉलीवुड में जब श्री देवी ने कदम रखा था तब  वे हिंदी नहीं बोल पाती थीं। शुरूआती फिल्में उन्हें डब करवा कर करनी पड़ीं थी। फिर फिल्म चांदनी से श्रीदेवी ने खुद अपनी आवाज अपने किरदारों को दी। 

श्री देवी की जिंदगी बहुत परेशानियों का सामना करने वाली रहीं। उनका फिल्म इंडस्ट्री में आना भी महज़ एक आय का साधन ही था। कहा जाता है कि उन्होंने मिथुन चक्रवर्ती के साथ छुप कर शादी कर ली थी। जिसका प्रमाण पत्र मीडिया को भी मिला था। 1996 में श्रीदेवी ने रील फिल्मों में उनके सहकलाकार रहे अनिल कपूर के बड़े भाई फिल्म निर्माता बोनी कपूर से शादी कर ली। बोनी कपूर की पहली पत्नी से उनकी दो संतानें थी एक अर्जुन और एक अंशुला। जब तक श्रीदेवी रहीं तब तक घर में आपस में पारिवारिक विवाद बना रहा। लेकिन उनकी आखिरी सांस ने उनके चारों बच्चों यानी उनकी दो सगी बेटियां जानवी कपूर और ख़ुशी कपूर और उनके दो सौतेले बच्चों अर्जुन और अंशुला चारों को करीब ला दिया। 

श्रीदेवी ने फिल्म ‘रूप की रानी चोरों का राजा’ के गीत ‘दुश्मन दिल का वो है’ के लिए 25 किलो से अधिक वजन की स्वर्ण पोशाक पहनी थी। जिसकी शूटिंग 15 दिनों तक चली थी। श्रीदेवी को चित्रकला में बहुत रूचि थी। मार्च 2010 में उनके चित्रों को एक अंतरराष्ट्रीय कला नीलामी हाउस द्वारा बेचा गया व इससे प्राप्त राशि को दान किया गया। श्रीदेवी की इस कला के दीवानों में सलमान खान और मनीष मल्होत्रा शामिल हैं, जिनके घर की दीवारों पर श्रीदेवी के बनाए चित्र लगे हुए हैं। श्रीदेवी को बॉलीवुड में सर्वश्रेष्ठ डांसर्स में से एक माना जाता है। कहा जाता है कि उनके गाने और डांस की लोकप्रियता की वजह से ही लोग उनकी फिल्मों के बारे में जानते थे। श्रीदेवी को डांसर्स में शम्मी कपूर और माइकल जैक्सन बहुत पसंद थे। श्रीदेवी बॉलीवुड की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली अभिनेत्रियों में से एक थीं। वे एकमात्र ऐसी अभिनेत्री थीं, जो 90 के दशक में लगभग एक करोड़ रुपये प्रति फिल्म लेती थी।

नगीना , चांदनी और सदमा जैसी सुपरहिट फ़िल्में देने वाली श्रीदेवी का फिल्म जगत में दिए गए अभिनय के योगदान को हम कभी नहीं भूल सकते हैं। वे श्रीदेवी  ही थीं, जिन्होंने महिला किरदारों की फिल्मों में अहम् भूमिका निभाई थी। अपने पूरे जीवन में श्रीदेवी ने कुल 300 फिल्म्स की हैं। जिसकी गिनती खुद में ही अतुलनीय है। एक प्रभावकारी व्यक्तित्व रखने वाली श्रीदेवी फिल्म इंडस्ट्री में आने वाली हर नयी पीढ़ी के लिए एक प्रेरणा रहेंगीं।

Related posts

45 की हुई लोलो, संजय कपूर से शादी से पहले इस अभिनेता से हुई थी सगाई

Manager TehelkaMP

जयललिता की बायोपिक बनेगी दो हिस्सों में…, एक्ट्रेस तमिल सीखेंगी और वजन भी बढ़ाएंगी….

Manager TehelkaMP

सलमान की दबंग सीरीज के राईटर दिलीप की अगली फिल्म ‘फैमिली ऑफ ठाकुरगंज’

News Desk

Leave a Comment