पर्यटन यात्रा वृतांत

दुनिया का सबसे बड़े मैंग्रोव जंगल यह नेशनल पार्क

सुन्दरवन नेशनल पार्क पश्चिम बंगाल राज्य में गंगा नदी पर एक आकर्षित सुंदरवन डेल्टा पर स्थित हैं। सुंदरवन नेशनल पार्क दुनिया के सबसे बड़े मैंग्रोव जंगल के रूप में जाना जाता हैं। सुंदरवन नेशनल पार्क भारत के पश्चिम बंगाल राज्य में स्थित है। सुंदरवन नेशनल पार्क एक टाइगर रिज़र्व और एक बायोस्फीयर रिज़र्व भी है, यहाँ आने वाले पर्यटकों के लिए ‘रॉयल ​​बंगाल टाइगर्स’ से लेकर खूबसूरत स्वर निकालने वाली नदियों और खूबसूरत प्रकृतिक परिवेश का आनंद उठा सकते हैं।
सुंदरवन राष्ट्रीय उद्यान सुंदरवन डेल्टा का अहम भाग हैं, जोकि मैंग्रोव वन और बंगाल टाइगर्स की सबसे बड़ी आबादी के रूप में जाना जाता हैं। वर्ष 1987 में सुन्दर वन नेशनल पार्क यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल में शामिल किया गया था।वर्ष 1966 के बाद से ही सुंदरवन एक वन्यजीव अभयारण्य के रूप में जाना गया हैं। लगभग 400 से अधिक रॉयल बंगाल टाइगर हैं और 30000 से अधिक चित्तीदार हिरण क्षेत्र में पाए गए थे। गंगा नदी एक आकर्षित डेल्टा बनाती हैं।

सुन्दरवन नेशनल पार्क के जानवर –

सुंदरवन नेशनल पार्क में जानवरों की कई प्रजातियां पाई जाती हैं जिनमे से कुछ किंग क्रेब्स, बाटागुर बास्का, ओलिव रिडले और कछुए हैं। इन जंगलों में विशाल छिपकलियां, जंगली सूअर, चित्तीदार हिरण और मगरमच्छ भी देख सकते हैं। सुंदरबन एनिमल्स सबसे प्रमुख आकर्षण साइबेरियाई बतख हैं। सुंदरवन में पानी में पाए जाने वाले छोटे-छोटे जीवो को फाइटोप्लांकटन कहा जाता है जोकि अंधेरे में चमकता है। सुंदरवन को विशेष रूप से दुनिया में बाघों के लिए जाना जाता हैं। यहाँ पाए जाने वाले बाघों ने खुद को खारा पानी पीने के अनुकूल किया हैं। रीसस मकाक, फिशिंग कैट्स, चीतल, जंगली सूअर, छोटे भारतीय सिवेट, लेपर्ड बिल्लियाँ, कॉमन ओटर और ब्लैक फ़िनलेस पोरपाइज़ आदि पाए जाते हैं। डॉल्फ़िन नदी के पानी में दो प्रकार के डॉल्फ़िन गंगेटिक डॉल्फ़िन और इरावाडी डॉल्फ़िन पाए जाते हैं।

सुंदरवन नेशनल पार्क की वनस्पति –

सुंदरवन नेशनल पार्क में पाई जाने वाली वनस्पति में मैंग्रोव वनस्पतियों के साथ-साथ नम उष्णकटिबंधीय वन पाए जाते है। मैंग्रोव की कई प्रजातियाँ को यहाँ देखा जा सकता हैं। सुंदरी पेड़ (हेरिटियर फॉम्स) इसकी आबादी जंगल में बहुत अधिक हैं इसी धारणा के चलते इस जंगल का नाम सुंदरवन रखा गया हैं। इसके अलवा यहाँ पाई जाने वाली मैंग्रोव की अन्य प्रजातियां ग्यूवा (एक्सोकेरिया एग्लोचा), कांकरा (ब्रूगुएरा जिम्नोरिज़ा), और गोरान (सेरियोप्स डिकेंड्रा), केओरा (सोननेरिया एपेटाला), धुंडुल (ज़ाइलोकार्पस ग्रैनटम) आदि हैं। जंगल में पाम ट्री की प्रजातियां, स्पीयरग्रास और खगरा घास भी अधिक पाए जाते हैं।

सुंदरवन नेशनल पार्क बोट सफारी

सुन्दरवन नेशनल पार्क की यात्रा के दौरान आप यहाँ कुछ प्रमुख सफारी का आनंद ले सकते हैं और अपनी यात्रा को सफल और रोमांचित बना सकते हैं। सुंदरवन नेशनल पार्क में नाव सफारी सरकार द्वारा संचालित की जाती हैं जोकि छोटे और बड़े रूप में उपलब्ध हैं। बोट सफारी को एक दिन या इससे भी लम्बी अवधि के लिए बुक किया जा सकता हैं। पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा संचालित की जाने वाली क्रूज 2 नाइट क्रूज आपको सजनेखाली, सुधन्याखाली, झिंगाखाली और डोबंकी प्रहरीदुर्ग तक की यात्रा पर ले जाता हैं। अगर आप चाहे तो निजी क्रूज पर्यटन से भी यहाँ का लुत्फ़ उठा सकते हैं।

सुंदरवन नेशनल पार्क खुलने और बंद होने का समय

सप्ताह के सातो दिन बोट सफारी चलती है सुबह 8:30 बजे से शाम 4 बजे तक। शाम को 6:30 बजे के बाद बोट को नही चलाया जाता है।

सुंदरवन नेशनल पार्क के आसपास के प्रमुख पर्यटन और आकर्षण स्थल –

सुंदरवन नेशनल पार्क घूमने के बाद आप इसके कुछ प्रमुख पर्यटन स्थलों पर भी घूमने जा सकते हैं। सुंदरवन के आसपास के इन टूरिस्ट प्लेसो का नजारा और खूबसूरती आपको मन्त्र-मुग्ध कर देगी। तो आइए हम आपको सुंदरवन की इन नजदीकी डेस्टिनेशन के बारे में जानकारी इस लेख में देते हैं।

नेतिधोपानी
नेतिधोपानी सुंदरवन की यात्रा के दौरान एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल हैं, जोकि लगभग 400 साल पुराना मंदिर हैं। नेतिधोपानी मंदिर में पूजा करने के लिए पर्यटकों की भीड़ बड़ी संख्या में सुंदरबन की यात्रा पर आती हैं।

सुधान्याखाली वाच टावर
सुधन्याखाली वाच टावर सुंदरवन का एक प्रमुख पर्यटन स्थल हैं और यहाँ से बाघों की घनी आबादी को पर्यटक अपनी आँखों से देख सकते हैं। इसके अलावा पर्यटक सुंदरवन के अन्य वन्यजीवों जैसे- अक्ष मृग और मगरमच्छों आदि को भी देख सकते हैं। यह टावर पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता हैं।

Image result for सुधान्याखाली वाच टावर सुंदरवन

कनक
सुंदरवन में देखने लायक स्थान कनक ओलिव रिडले कछुओं का निवास स्थान है जोकि खासतौर पर उथले पानी और समुद्र तटो पर पाए जाते हैं। प्रजन की अबधि के दौरान यह कछुए दूर से सुंदरवन क्षेत्र में आते हैं। यह स्थान यहाँ आपने वाले पर्यटकों के लिए सुखद अनुभव की अनुभूति कराता हैं।

हॉलिडे आइलैंड
सुंदरवन नेशनल पार्क के दक्षिण में स्थित हॉलिडे आइलैंड एक मशहूर टाइगर रिजर्व हैं। हर साल बड़ी संख्या में पर्यटकों द्वारा हॉलिडे आइलैंड का दौरा किया जाता है। हॉलिडे आइलैंड पर जाने वाले पर्यटक बार्किंग हिरण को देखने का अनुभव ले सकते है।

कटका सुंदरवन
सुंदरवन के पर्यटन में कटका सुंदरकांस में सफारी के लिए एक प्रसिद्ध स्थान है और यहाँ से बाघों की आबादी को भी देखा जा सकता हैं। इसके अलावा सुंदरवन में पक्षियों को देखने के लिए भी यह एक आदर्श स्थान हैं। कटका की यात्रा कर पर्यटक कई जंगली जानवर बाघ, हिरण, बंदर और पक्षियों को देख सकते हैं। ट्रेकिंग के शौकीन पर्यटकों के लिए भी यह एक आदर्श पॉइंट के रूप में जाना जाता हैं और यह काचीखली तक फैला हुआ हैं। इस स्थान को टाइगर पॉइंट के रूप में जाना जाता हैं।

Image result for कटका सुंदरवन

कपिलमुनि मंदिर
सुंदरवन का दर्शनीय स्थल कपिलमुनि मंदिर यहाँ का एक प्रमुख पर्यटन स्थल हैं। कपिलमुनि मंदिर सुबह 6 बजे से शाम के 8 बजे तक खुला रहता हैं। पर्यटक दूर-दूर से इस मंदिर के दर्शन के लिए आते हैं।

सजनेखली पक्षी अभयारण्य
सजनेखली पक्षी अभयारण्य पीचक्ली और गोमती नदियों के बीच स्थित एकमात्र ऐसा स्थान है जहाँ पर्यटक सैर पर जा सकते हैं। सजनेखली बर्ड सेंचुरी सुंदरबन में टाइगर रिजर्व से सटे एग्रेस, बगुलों और पक्षियों की कई अन्य प्रजातियों का निवास स्थान है। टूरिस्ट यहां मैंग्रोव इंटरप्रिटेशन सेंटर भी जा सकते हैं। यह स्थान अपने यहाँ शानदार पक्षी अभ्यारण के लिए जाना जाता हैं।

भारत सेवाश्रम संघ मंदिर –
सुंदरवन का दर्शनीय स्थल भारत सेवाश्रम संघ मंदिर पर्यटकों को बहुत अधिक आकर्षित करता हैं। यह मंदिर सुबह 6 बजे से शाम के 8 बजे तक पर्यटकों के लिए खुला रहता हैं। भारत सेवाश्रम संघ मंदिर में किसी प्रकार का कोई प्रवेश शुल्क नही लगता हैं।

Image result for कटका सुंदरवन

हिरण पॉइंट
हिरणपॉइंट सुंदरवन और खुलना जिले के दक्षिणी भाग में स्थित है एक आकर्षित टूरिस्ट प्लेस हैं।यह स्थान तीनों ओर से जल निकायों से घिरा हुआ हैं और खुलना रेंज के उत्तर में स्थित है। हिरन पॉइंट के पश्चिम में ओरपन गचिया नदी और पूर्व में पोरूर नदी बहती हैं। पर्यटकों को यहाँ जानवरो की झलक देखने को मिल जाती हैं।

Image result for हिरण पॉइंट

क्रोकोडाइल सेंचुरी
सप्तमुखी नदी से प्रवाहित भागबतपुर मगरमच्छ परियोजना नामखाना से कुछ ही घंटों की दूरी पर स्थित सुंदरवन का पर्यटन स्थल है। यह दुनिया के सबसे बड़े एस्टुरीन मगरमच्छों की हैचरी के रूप में जाना जाता है।

लोथियन द्वीप पक्षी अभयारण्य –
लोथियन द्वीप पक्षी अभयारण्य दक्षिण 24 परगना जिले में स्थित पश्चिम बंगाल के आकर्षित वन्यजीव अभ्यारण में से एक है। लोथियन द्वीप पक्षी अभयारण्य में कई प्रजाति के पक्षी पाए जाते हैं, जिनमे से कुछ प्रमुख – ब्लैक-कैप्ड किंगफिशर, क्लब, टर्न, व्हाइट-बेल्ट सी-ईगल और व्हिम्ब्रेल आदि शामिल हैं।

पियाली नदी
पियाली सुंदरवन का प्रवेश द्वार हैं जोकि कोलकाता से 72 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं। धान के खेतों से बहती हुई यह खूबसूरत नदी मतला नदी से मिलती है। पियाली डेल्टा रोमांटिक छुट्टियों मानाने वालो के लिए एक आदर्श स्थान के रूप में जाना जाता हैं।

डब्लर चार द्वीप सुंदरवन का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल डब्लर चार द्वीप खुलना जिले के दक्षिणी भाग में स्थित है जोकि बंगाल की खाड़ी से सीमांत भाग भी बनाता है। डब्लर चार द्वीप के पूर्वी भाग में बहने वाली नदी पास्सुर नदी हैं और पश्चिमी किनारे पर शिभा नदी बहती हैं। मछली पकड़ने के लिए यह एक आदर्श स्थान हैं। सुंदरवन की यात्रा के दौरान पर्यटक इस स्थान का दौरा भी करते हैं।

सुंदरवन नेशनल पार्क घूमने जाने का सबसे अच्छा समय
सुंदरवन नेशनल पार्क की यात्रा पर जाने के लिए सबसे अच्छा समय दिसंबर और फरवरी महीने के बीच का माना जाता है क्योंकि यह मौसम सबसे सुखद है। हालांकि यह नेशनल पार्क पूरे वर्ष भर खुला रहता है लेकिन बाढ़ और बढ़ते हुए शिकारी गतिविधियों की वजह से मानसून के दौरान ज्यादातर बचा जाता है।
सुंदरवन नेशनल पार्क कैसे जाये

फ्लाइट से
इसके सबसे निकटतम हवाई अड्डा कोलकाता का एयरपोर्ट हैं जोकि 90 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं। यहां से आप बस या टैक्सी से अपनी यात्रा पूरी कर सकते हैं।
ट्रेन से
सुन्दर वन जाने के लिए कोई सीधी ट्रेन उपलब्ध नही हैं। लेकिन सुंदरवन के सबसे निकटतम गोधाखाली शहर का कैनिंग रेलवे स्टेशन हैं, जोकि सुंदरवन नेशनल पार्क से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं।
बस से
यह उद्यान पश्चिम बंगाल के पड़ोसी शहरों से सड़क मार्ग के माध्यम से बहुत अच्छी तरह से जुड़ा हुआ हैं। आप सोनाखली, गोदखली, नामखाना, कैनिंग, रायडीह या नजत से बस का चुनाव कर सकते हैं।

Related posts

जानिए राजस्थान के एकमात्र हिल स्टेशन के बारें में

Manager TehelkaMP

कई प्राचीन गुफाएं और प्राकृतिक झरनों से घिरा हुआ है यह स्थान

News Desk

सुरम्य पर्वत श्रृंखला से घिरा हुआ है यह शहर

News Desk

Leave a Comment